टेक्निकल एनालिसिस का आधार

ग्वार गम वायदा

ग्वार गम वायदा

मांग घटने से ग्वारगम वायदा कीमतों में नरमी

नयी दिल्ली, 28 सितंबर (भाषा) हाजिर बाजार में कमजोरी के रुख के अनुरूप व्यापारियों के अपने सौदे घटाने से वायदा कारोबार में बुधवार को ग्वारगम की कीमत 219 रुपये की गिरावट के साथ 9,731 रुपये प्रति पांच क्विंटल रह गई।

एनसीडीईएक्स में ग्वारगम के अक्टूबर माह में डिलिवरी वाले अनुबंध की कीमत 219 रुपये या 2.25 प्रतिशत की गिरावट के साथ 9,731 रुपये प्रति पांच क्विंटल रह गई जिसमें 30,560 लॉट के लिए कारोबार हुआ।

बाजार विश्लेषकों ने कहा कि हाजिर बाजार की कमजोर मांग और उत्पादक क्षेत्रों से पर्याप्त आपूर्ति के कारण ग्वारगम वायदा कीमतों में गिरावट आई।

ग्वार गम वायदा

मंगलवार यानी 14 मई 2013 को ग्वार सीड और ग्वार गम का वायदा कारोबार फिर से आरंभ हो गया।

ग्वार के कारोबारियों और किसानों की ओर से दोबारा ग्वार में वायदा कारोबार में शुरू करने की माँग पर आर्थिक सलाहकार परिषद की तरफ से सरकार को भेजी गयी रिपोर्ट पर मुहर लगने के बाद इसमें वायदा कारोबार शुरू हुआ। फिर से शुरू हुए कारोबार के पहले दिन नेशनल कमोडिटीज ऐंड डेरिवेटिव्स एक्सचेंज (एनसीडीईएक्स) और मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एमसीएक्स) में ग्वार गम और ग्वार सीड में तीखी गिरावट दर्ज की गयी। जहाँ कारोबार के दौरान ग्वार सीड में 10% तक की गिरावट आयी, वहीं दिन के दौरान ग्वार गम में 8% की गिरावट देखी गयी। अगर बात एनसीडीईएक्स की करें तो ग्वार गम का जुलाई कांट्रैक्ट गिर कर 27280 रुपये प्रति क्विंटल और जून कांट्रैक्ट फिसल कर 28150 रुपये प्रति क्विंटल पर बंद हुआ। इससे पहले एनसीडीईएक्स पर ग्वार गम का जून कांट्रैक्ट 30700 रुपये प्रति क्विंटल पर खुला।
दूसरी ओर एनसीडीईएक्स पर ग्वार सीड के कारोबार में भी तेज गिरावट देखी गयी। एनसीडीईएक्स पर ग्वार सीड का जून कांट्रैक्ट गिर कर 9460 रुपये प्रति क्विंटल और जुलाई कांट्रैक्ट 9470 रुपये प्रति क्विंटल पर बंद हुआ। इस शुरुआत के पहले दिन एनसीडीईएक्स पर 5664 टन ग्वार सीड और 1014 टन ग्वार गम का कारोबार हुआ। दूसरी ओर कारोबार के पहले दिन एमसीएक्स पर जून कांट्रैक्ट 9505 रुपये और जुलाई कांट्रैक्ट 9445 रुपये प्रति क्विंटल पर बंद हुआ। एमसीएक्स में 2136 ग्वार सीड तथा 126 टन ग्वार ग्वार गम वायदा गम का कारोबार हुआ।
दरअसल काफी समय कारोबार बंद रहने के बाद वायदा बाजार आयोग (एफएमसी) ने विभिन्न कड़ी शर्तों के साथ ग्वार सीड और ग्वार गम में वायदा कारोबार शुरू करने की अनुमति दे दी है। अगर हम पीछे मुड़ कर देखें तो मार्च 2012 में एनसीडीईएक्स से ग्वार का कारोबार हटाये जाने के समय वायदा में ग्वार गम और ग्वार सीड में भारी मात्रा में कारोबार हो रहा था और इनकी कीमतों में अचानक काफी तेजी आ गयी थी। यहाँ तक कि 21 मार्च 2012 को एनसीडीईएक्स पर ग्वार गम का भाव बढ़ कर 100195 रुपये प्रति क्विंटल और ग्वार सीड का भाव 30533 रुपये प्रति क्विंटल हो गया है। ऐसे में कीमतों में आयी तेजी से बाजार नियामक को संदेह हुआ और इसने 27 मार्च 2012 से ग्वार के वायदा कारोबार पर रोक लगा दी थी। बाजार नियामक का मानना था कि सटोरियों की भूमिका की वजह से ग्वार के कारोबार में अनियमितता आयी थी।
एफएमसी ने एमसीएक्स और एनसीडीईएक्स को ग्वार सीड और ग्वार गम के जून, जुलाई, ग्वार गम वायदा अक्टूबर व नवंबर कांट्रैक्ट आरंभ करने की अनुमति तो जरूर दी है, लेकिन पारदर्शिता लाने और जोखिम प्रबंधन के लिए एफएमसी की ओर से कारोबार की ग्वार गम वायदा शर्तों में कई महत्वपूर्ण बदलाव किये गये हैं। वायदा बाजार आयोग के पारदर्शिता लाने के उपायों के तहत मांगे जाने पर एक्सचेंजों को वायदा कारोबार में लगायी ग्वार गम वायदा गयी रकम का विस्तृत विवरण भी उपलब्ध कराना होगा। यही नहीं, वायदा एक्सचेंज पर ग्वार सीड और ग्वार गम में निवेशकों के पास स्टॉक पोजीशन की स्थिति और उनके पास हाजिर स्टॉक की जानकारी भी माँगी जा सकेगी। अब निवेशकों को ग्वार में लगायी जाने वाली रकम का स्रोत भी बताना होगा। ग्वार सीड और ग्वार गम में डिलीवरी अनिवार्य की गयी है। साथ ही पूरे कारोबार पर एफएमसी की कड़ी नजर रहेगी।
वहीं दूसरी ओर जोखिम प्रबंधन के लिए ग्वार सीड और ग्वार गम के कांट्रैक्ट में विशेष मार्जिन का प्रावधान वायदा बाजार आयोग की ओर से किया गया है। विशेष मार्जिन का यह प्रावधान इसलिए किया गया है कि कीमतों में ज्यादा उतार-चढ़ाव न हो। एफएमसी की ओर से तय किये गये फॉर्मूले के अनुसार किसी कांट्रैक्ट की अवधि में अगर कीमतें बढ़ती है तो मार्जिन भी अपने आप बढ़ जायेगा। भाव 20-30% बढऩे पर 10%, 30-40% बढऩे पर 20%, 40-50% बढऩे पर 30% और भाव 50% से ज्यादा बढऩे पर 50% विशेष मार्जिन लगेगा।
बाजार के जानकारों का कहना है कि ग्वार सीड और ग्वार गम में वायदा कारोबार आरंभ होने से किसानों को ग्वार के अंतरराष्ट्रीय भाव मिलेंगे और संबंधित कारोबारियों व उद्योगों ग्वार गम वायदा को अपने जोखिम का प्रबंधन करने में मदद मिलेगी। चूँकि इस बार ग्वार का उत्पादन अधिक हुआ है, ऐसे में किसानों के पास अभी भी अच्छी मात्रा में ग्वार का स्टाक है। इसका किसानों को फायदा मिल सकता है।
(निवेश मंथन, जून 2013)

कमजोर हाजिर मांग से ग्वारगम के वायदा भाव में गिरावट

नयी दिल्ली, 22 नवंबर (भाषा) मजबूत हाजिर मांग के बीच सटोरियों द्वारा अपने सौदों का आकार बढ़ाने से वायदा कारोबार में मंगलवार को ग्वारगम की कीमत 768 रुपये की गिरावट के साथ 12,380 रुपये प्रति पांच क्विंटल रह गई।

एनसीडीईएक्स में ग्वारगम के दिसंबर माह में आपूर्ति वाले अनुबंध की कीमत 768 रुपये यानी 5.84 प्रतिशत की गिरावट के साथ 12,380 रुपये प्रति पांच क्विंटल रह गई। इसमें 40,050 लॉट के लिए कारोबार हुआ।

बाजार विश्लेषकों ने कहा कि हाजिर मांग कमजोर होने तथा उत्पादक क्षेत्रों से पर्याप्त आपूर्ति के कारण वायदा कारोबार में ग्वारगम कीमतों में गिरावट आई।

यह खबर ‘भाषा’ न्यूज़ एजेंसी से ‘ऑटो-फीड’ द्वारा ली गई है. इसके कंटेंट के लिए दिप्रिंट जिम्मेदार नहीं है.

मजबूत मांग के कारण ग्वारगम वायदा कीमतों में तेजी

नयी दिल्ली, 23 ग्वार गम वायदा अगस्त (भाषा) हाजिर मांग के कारण सटोरियों ने अपने सौदों के आकार को बढ़ाया जिससे वायदा कारोबार में मंगलवार को ग्वारगम की कीमत दो रुपये की तेजी के साथ 8,558 रुपये प्रति पांच क्विन्टल हो गई।
एनसीडीईएक्स में ग्वारगम के सितंबर माह में डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत दो रुपये अथवा 0.02 प्रतिशत की तेजी के साथ 8,558 रुपये प्रति पांच क्विन्टल हो गई जिसमें 35,130 लॉट के लिए कारोबार हुआ।
बाजार विश्लेषकों ने कहा कि हाजिर बाजार में मजबूती के रुख को देखते हुए व्यापारियों ने अपने सौदों के आकार को बढ़ाया जिससे ग्वारगम वायदा कीमतों में तेजी आई।

यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

प्रधानमंत्री शरीफ के तुर्की जाने से पहले सेना प्रमुख की नियुक्ति कर दी जाएगी: आसिफ

प्रधानमंत्री शरीफ के तुर्की जाने से पहले सेना प्रमुख की नियुक्ति कर दी जाएगी: आसिफ

नादौन में टिप्पर से टकराई स्कूटी, चालक की मौत, 2 घायल

नादौन में टिप्पर से टकराई स्कूटी, चालक की मौत, 2 घायल

पाकिस्तान सरकार को नए सेना प्रमुख, सीजेसीएससी की नियुक्ति के लिए मिले छह नाम

वायदा ग्वारगम कमजोर मांग से ग्वारगम वायदा कीमतों में गिरावट

एनसीडीईएक्स में ग्वारगम के जुलाई महीने में डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत 79 रुपये अथवा 1.44 प्रतिशत की गिरावट के साथ 5,400 रुपये प्रति पांच क्विन्टल रह गयी जिसमें 27,150 लॉट के लिए कारोबार हुआ।

नयी दिल्ली. हाजिर बाजार में कमजोरी के रुख के अनुरूप व्यापारियों ने अपने सौदों की कटान की जिससे वायदा कारोबार में सोमवार को ग्वारगम की कीमत 79 रुपये की गिरावट के साथ 5,400 रुपये प्रति पांच क्विन्टल रह गयी। एनसीडीईएक्स में ग्वारगम के जुलाई महीने में डिलीवरी वाले अनुबंध ग्वार गम वायदा की कीमत 79 रुपये अथवा 1.44 प्रतिशत की गिरावट के साथ 5,400 रुपये प्रति पांच क्विन्टल रह गयी जिसमें 27,150 लॉट के लिए कारोबार हुआ।

ग्वारगम के अगस्त महीने में डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत 84 रुपये ग्वार गम वायदा अथवा 1.52 प्रतिशत की गिरावट के साथ 5,440 रुपये प्रति पांच क्विन्टल रह गयी जिसमें 17,875 लॉट के लिए कारोबार हुआ। बाजार सूत्रों ने कहा कि हाजिर बाजार की कमजोर मांग तथा उत्पादक क्षेत्रों से आपूर्ति बढ़ने के कारण यहां वायदा कारोबार में ग्वारगम कीमतों में गिरावट दर्ज हुई।(एजेंसी)

रेटिंग: 4.11
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 496
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *