ताजा खबरें

ओलिम्प ट्रेड

ओलिम्प ट्रेड

बड़ी खबर : दिल्ली में किसानों के आंदोलन ने पकड़ी रफ्तार।

Farmers from across the nation gather in Delhi to participate in a 2-day protest from today over their demands, including debt relief and better MSP (minimum support price) for crops; #visuals from Bijwasan. Farmers will today march from different parts of Delhi to Ramlila Maidan

Delhi: Latest visuals from Bijwasan; farmers from across the nation have gathered in Delhi to participate in a 2-day protest from today over their demands, including debt relief and better MSP (minimum support price) for crops. pic.twitter.com/2zJBvkNJtn

कई राज्यों से आए किसान दिल्ली में इकट्ठा हो रहे हैं। यहां से वो कल संसद भवन तक मार्च करेंगे।

Farmers from across the nation gather in Delhi to participate in a 2-day protest from today over their demands, including debt relief and better MSP (minimum support price) for crops; #visuals from Bijwasan. Farmers will today march from different parts of Delhi to Ramlila Maidan

ओलिम्प ट्रेड नौशिखियों को समझदारी से ट्रेड करना सिखा देता है
किसानों को कर्ज से मुक्ति दिलाने और कृषि उत्पाद लागत का डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य मुहैया कराने की मांग को लेकर लगभग 200 किसान संगठनों के आह्वान पर गुरुवार से आयोजित आंदोलन के लिए किसानों का दिल्ली का पहुंचना शुरू हो गया है।

अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति द्वारा 29 और 30 नवंबर को आहूत संसद मार्च को वाम दलों सहित 21 राजनीतिक दलों का समर्थन हासिल है।

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, 29 नवंबर की सुबह किसान बिजवासन से 26 किलोमीटर पैदल मार्च करते हुए शाम करीब पांच बजे रामलीला मैदान पहुंचेंगे। वहीं 30 नवंबर को संसद की ओर मार्च करेंगे।

समिति के संयोजक हन्नान मोल्लाह ने बुधवार को यहां बताया कि गुरुवार को रामलीला मैदान में एकत्र होने के लिये किसानों के समूह दिल्ली पहुंचने लगे हैं।

उन्होंने बताया कि मेघालय, जम्मू कश्मीर, गुजरात और केरल सहित देश के विभिन्न राज्यों से किसानों के समूह सड़क और रेल मार्ग से दिल्ली और आसपास के इलाकों में एकत्र होने लगे हैं।

मोल्लाह ने इसे अब तक का सबसे बड़ा किसान आंदोलन होने का दावा करते हुए कहा कि गुरुवार को रामलीला मैदान में किसान सभा के आयोजन के बाद शुक्रवार को किसानों का हुजूम रामलीला मैदान से संसद मार्च करेगा।

इससे पहले गुरुवार को सुबह दिल्ली के प्रवेश मार्गों से रामलीला मैदान तक किसान मार्च के लिए बिजवासन, मजनूं का टीला, निजामुद्दीन, आनंद विहार पर सभी किसान एकत्र होंगे।

अखिल भारतीय किसान सभा के सचिव अतुल कुमार अंजान ने बताया कि शुक्रवार को संसद मार्ग पर आयोजित किसान सभा में आंदोलन का समर्थन कर रहे विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता शिरकत करेंगे।

इनमें आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सहित अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों के भी शामिल होने की संभावना है।

अंजान ने बताया कि शुक्रवार को दो सत्रों में आयोजित किसान सभा के पहले सत्र में किसान नेता आंदोलन के विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करेंगे। इसके बाद दूसरे सत्र में विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता किसानों को संबोधित करेंगे।

ARAVETI

Cotizaciones del Día Nacional de los Hermanos 2020 यह दिन भाईयों को समर्पित होता है जो ओलिम्प ट्रेड कि अपने भाई की देखभाल पेरेंट्स की तरह करते हैं।
दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। Cotizaciones del Día Nacional ओलिम्प ट्रेड del Hermano 2020: आज राष्ट्रीय भाई दिवस (ब्रदर्स डे) है। यह हर साल 24 मई को मनाया जाता है। इसे सबसे पहले संयुक्त राष्ट्र अमेरिका में मनाया गया। इसके बाद यह पूरी दुनिया में मनाया जाने लगा। इसका मुख्य उद्देश्य लोगों को भाइयों के प्यार और समर्पण के प्रति जागरूक करना है। यह दिन भाईयों को समर्पित होता है जो कि अपने छोटे भाई की देखभाल पेरेंट्स की तरह करते हैं। इसके साथ ही एक दोस्त की तरह अपने भाई की हर दुःख सुख में दोस्त बनकर उसका साथ भी देता है। इस दिन लोग अपने बड़े-छोटे भाइयों को ब्रदर्स डे की शुभकामनाएं देते हैं। इसके लिए वें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, व्हाट्सअप का सहारा लेते हैं। अगर आप भी अपने भाई को स्पेशल विश देना चाहते हैं तो आप इन विशेज को भेकर उन्हें स्पेशल बता सकते हैं-

1. राम को जैसे मिले थे लक्ष्मण

बलराम को मिले थे कन्हाई

ऐसे ही इस जन्म में मुझको

मिला है मेरा प्यारा भाई।

2. ऐ रब मेरी दुआओं का इतना तो असर रहे,

मेरे भाई के चेहरे पर हमेशा मुस्कुराहट रहे।

3. मेरे भाई जैसा ना हैं ना होगा कोई दूजा,

मैं आरती उतार के करू तेरी पूजा

मन करे है भैया मैं उड़ के पास तेरे आ जाऊ

लेकर बलैया मैं तुझपे वारि वारि जाऊं

4.मेरे भाई ओलिम्प ट्रेड ने मुझे बचपन में मुझे खूब रूलाया,

Eid 2020 en Lockdown: न बाज़ारों में दिखेगी रौनक़ और न ओलिम्प ट्रेड मस्दिज़ों में पढ़ी जाएगी नमाज़ .
Eid 2020 in Lockdown: न बाज़ारों में दिखेगी रौनक़ और न मस्दिज़ों में पढ़ी जाएगी नमाज़ .
यह भी पढ़ें
पर जब मैं मुसीबत में था तो भाई ने ही हौसला बढ़ाया।

5. जिसके सर पर भाई का हाथ होता हैं,

हर परेशानी में उसके साथ होता हैं,

लड़ना झगड़ना फिर प्यार से मनाना,

तभी तो इस रिश्ते में इतना प्यार होता हैं।

6. मुझ पर मुसीबत ओलिम्प ट्रेड आती है तो वो संभाल लेता है

पीछे हटने का न भाई नाम नहीं लेता है

खुश रहूं मैं और मेरा परिवार सारा

इसी सोच के साथ वो हर काम को अंजाम देता है।

Eid-ul-Fitr 2020 Hoiday: जानिए देशभर में कब है ईद-उल-फितर की छुट्टी
Eid-ul-Fitr 2020 Hoiday: जानिए देशभर में कब है ईद-उल-फितर की छुट्टी
यह भी पढ़ें
7. मां मुझे ममता देती है,

पिता अनुशासन सिखाता है

खुलकर कैसे जीना है भाई मुझे बताता है।

Anni Red Sarees
Publication by: Umanath Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

TE PUEDE GUSTAR

रईसी का जीवन जीने का सोचते हैं? ओलिम्प ट्रेड से कमाना शुरू करें
historias space

दो बच्चों की मां ने छुपा रखे थे 5.6 करोड़, खुद खुलासा कर बताया घर से काम करके हर महीने कमाती हैं 9 लाख 37 हजार रूपये

दो बच्चों की मां ने छुपा रखे थे 5.6 करोड़, खुद खुलासा कर बताया घर से काम करके हर महीने कमाती हैं 9 लाख 37 हजार रूपये

अजब-गजब।। जरा आप कल्पना कीजिए की कि आपकी अर्धांगनी ने आपसे 5.6 करोड़ रूपये छुपा कर रखे हों। क्या आप ऐसा कर सकते हैं। यूपी की रहने वाली ज्योति ने ऐसा तीन साल तक किया। उसने अपने पति व बच्चों से इस रहस्य को छिपाये रखा। दो बच्चों की मां ज्योति और अविनाश मेहता का विवाह वर्ष 2004 में हुआ था। शादी के कुछ समय बाद उनके पति अभियंता बन गये और अपना काम करने लगे। ज्योति अपने घर के पास एक क्लीनिक पर रिसेप्सनिस्ट ओलिम्प ट्रेड का काम करने लगी।

वर्ष 2008 में ज्योति एक बच्चे की मां बनी। इस दौरान पति-पत्नी ने आपस में तय किया कि ज्योति अपनी जाॅब छोड़ दें और घर पर रहें और बच्चों की देख-भाल करे। वर्ष 2008 में जब देश मंदी के दौर से गुजर रहा था। सौभाग्य से अविनाष की नौकरी नहीं गई, पर उन्होंने ओवर-टाइम कर अपनी नौकरी को बचाये रखा। इसके बाद भी उनका वेतन कम कर दिया गया। इस दौरान उनके घर में आर्थिक तंगी आ गई। अविनाश घर की खास जरूरत की पूरी कर पा रहे थे। ज्योति का कहना है कि उसने पैसे की बचत करने की कोशिश की, लेकिन इसमें वह सफल नहीं हो पा रही थी।

दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों को लाने के लिए योगी सरकार ने बनाया प्लान, कहा- जल्द से जल्द॰॰॰

इस बीच देश का बाजार बनता-बिगड़ता रहा। इसी बीच वह दोबारा गर्भवती हो गईं। उन्होंने ईश्वर से प्रार्थना की कि सब कुछ ठीक से चलता रहे। दूसरे बच्चे के जन्म के बाद ज्योति ने फेसबुक पर एक विज्ञापन देखा, जिसमें घर से काम करने को कहा गया था। विज्ञापन में दावा किया गया था कि 58000 प्रति दिन की आय हो सकती है। ज्योति ने बताया कि कई लोगों ने विज्ञापन को देखा था, ऐसा उन्हें पता ओलिम्प ट्रेड चला तो उन्हें विज्ञापन पर भरोसा हो गया। ऐसा ओलिम्प ट्रेड (Olymp Trade) के जरिये संभव हो सका है।

Forex Trading को लेकर RBI से बड़ा अपडेट! 34 फॉरेक्स ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म के नामों की लिस्ट हुई जारी, इनपर न करें ट्रेड

रिजर्व बैंक ने आज 34 ऐसे ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स की लिस्ट जारी की है जो बिना रिजर्व बैंक की मंजूरी के ट्रेडिंग करा रहे हैं. रिजर्व बैंक ने कहा है कि ऐसे प्लेटफॉर्म फॉरेक्स एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट या फिर इलेट्रॉनिक प्लेटफॉर्म ट्रेडिंग से जुड़े नियमों के तहत रिजर्व ओलिम्प ट्रेड बैंक के पास रजिस्टर्ड नहीं है.

रिजर्व बैंक ने फॉरेक्स ट्रेडिंग के जरिए मुनाफा कराने वालों के बारे में लोगों को आगाह किया है. रिजर्व बैंक ने आज 34 ऐसे ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स की लिस्ट जारी की है जो बिना रिजर्व बैंक की मंजूरी के ट्रेडिंग करा रहे हैं. रिजर्व बैंक ने कहा है कि ऐसे प्लेटफॉर्म फॉरेक्स एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट या फिर इलेट्रॉनिक प्लेटफॉर्म ट्रेडिंग से जुड़े नियमों के तहत रिजर्व बैंक के पास रजिस्टर्ड नहीं है. रिजर्व बैंक के मुताबिक ये लिस्ट अभी के हिसाब से और इसमें अगर शिकायतें आएंगी तो जांच के बाद लिस्ट की संख्या बढ़ भी सकती है. इसका मतलब ये भी नहीं है कि जिन प्लेटफॉर्म के नाम इस लिस्ट में नहीं हैं वो ऑथराइज्ड ही हैं. ऑथराइज्ड स्टेटस जांचने के लिए रिजर्व बैंक की वेबसाइट पर मुहैया ऑथराइज्ड लोगों और ऑथराइज्ड इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स की लिस्ट से मिलान किया जा सकता है.

रिजर्व बैंक ने आगाह किया है कि केवल अधिकृत संस्थाओं से ही फॉरेक्स सौदे किए जा सकते हैं और केवल उसी मद में किए जा सकते हैं जिनकी नियमों के तहत इजाजत है. जिन फॉरेक्स सौदों की इजाजत है वो केवल रिजर्व ओलिम्प ट्रेड बैंक से ऑथराइज्ड ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स से ही होना चाहिए. या फिर BSE, NSE जैसे मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंज से किए जा सकते हैं. ऐसे में लोगों को रिजर्व बैंक ने आगाह किया है कि वो अनाधिकृत प्लेटफॉर्म्स से फॉरेक्स के सौदे न करें. अगर कोई अनाधिकृत सौदे करेगा तो फॉरेक्स एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट (FEMA) नियमों के तहत कार्रवाई के लिए जिम्मेदार होगा.

अगर आप भी फॉरेक्स ट्रेडिंग में दिलचस्पी रखते हैं तो आपने भी Forex Trading के जरिए रातों-रात अमीर बनने का सपना दिखाने वाले एडवर्टीज़मेंट देखे होंगे. ऐसे विज्ञापन अकसर महंगाई का सौदा होते हैं. ये फॉरेक्स ट्रेडिंग ऐप्स निवेशकों को पहली बार ट्रेड के लिए फ़्री कैश या फ्री ट्रेडिंग कोर्स जैसे ऑफर देते हैं. खुद को क्रेडिबल दिखाने के लिए बड़े-बड़े दावे भी करने से पीछे नहीं हटते हैं. आरबीआई काफी वक्त से इनके खिलाफ लोगों को जागरूक कर रहा है.

आरबीआई इसके पहले भी कई ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स के खिलाफ लोगों को आगाह कर चुकी है. इनमें से OctaFx, OlympTrade, Alpari, Forex.com, Ava Trade, FBS, I-Forex, Binomo.com, IQ Option, TP Global Forex जैसे प्लेटफॉर्म पर फॉरेक्स ट्रेडिंग रिजर्व बैंक नियमों के तहत कानूनन अपराध की श्रेणी में आता है. ये प्लेटफॉर्म्स रिजर्व बैंक या सेबी में से किसी के पास भी रजिस्टर्ड नहीं हैं.

रेटिंग: 4.84
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 510
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *